Saturday, December 14, 2019
Home > Do you know? > We should teach about Chacha Nehru to our children

We should teach about Chacha Nehru to our children

Truth of Nehru

राजस्थान सरकार ने माननीय नेहरू जी को पाठ्यक्रम से हटा दिया जोकि बिल्कुल ही गलत है……

बजाय हटाने के बच्चों को नेहरू के बारे में पूरा सच पढ़ाया जाना चाहिए न की वर्तमान की तरह केवल अंशत !!!

यह भी पढ़ाया जाना चाहिए कि कोर्ट में जज के सामने कहा था कि में जन्म से भारतीय हूँ किन्तु मन वचन कर्म व भाषा से आज भी अंग्रेज हूँ।

यह भी पढ़ाया जाना चाहिए कि नेहरू की पत्नी टीबी से ग्रस्त होकर एक सेनीटोरियम में भर्ती थी और नेहरु कभी उनका हाल चाल लेना नहीं चाहता था वह दिल्ली में एडविना के साथ इश्क फरमाता था, इसकी भी चर्चा होनी चाहिए।

इसकी भी पढ़ाई होनी चाहिए जब नेहरू का निजी सचिव OT मैथ्यू ने सांसद तारकेश्वरी सिन्हा के साथ छेड़छाड़ की थी और जब तारकेश्वरी सिन्हा ने इसकी शिकायत नेहरू से की थी तब नेहरू ने बेशर्मी से हंसते हुए कहा अरे तारकेश्वरी तुम तो हो ही इतनी खूबसूरत तुम्हें देखकर तो मेरा भी मन तुम्हें छेड़ने को करता है कोई बात नहीं OT मैथ्यू ने छेड़ दिया तो क्या हो गया।

यह भी पढ़ाया जाना चाहिए जब कश्मीर पर चर्चा चल रही थी तब माउंटबेटन ने नेहरू को एडविना के द्वारा उसे कश्मीर पर यह मानने के लिए मजबूर कर दिया कि कश्मीर भारत का अंग नहीं है।

यह भी पढ़ाया जाना चाहिए जब आजादी के बाद एडविना लंदन चली गई तब नेहरू अपने सबसे विश्वासपात्र “वी के कृष्ण मेनन” को ब्रिटेन में भारत का हाई कमिश्नर बनाकर भेज दिया उस जमाने में एसटीडी और आईएसडी नहीं होती थी विदेशों में ट्रंक कॉल बुकिंग करके फोन किए जाते थे और हर महीने करोड़ों रुपए नेहरू और एडविना के फोन के बीच हुई बातचीत पर वी के कृष्ण मेनन सरकारी खजाने से चुकता था।

इस बात की भी चर्चा होनी चाहिए कि नेहरू सार्वजनिक रुप से स्वीकार कर चुका था कि वो एडविना को प्यार करता है।

हम बच्चों को सिर्फ आधी अधूरी बातें क्यों बताते हैं कि चाचा नेहरू बच्चों से प्यार करते थे, अरे इस दुनिया में ऐसा कौन सा इंसान होगा जो बच्चों को हंटर से मारता है ?? कोई नहीं, बच्चों से तो सभी प्यार करते है,

यह भी बच्चों को पढ़ाया जाना चाहिए कि नेहरू के कपड़े धोने के लिए पेरिस में जाते थे यह भी पढ़ाया जाना चाहिए कि एक बार लंदन में आक्सफोर्ड में नेहरू यह भूल गए कि उनका ड्राइवर किस गेट पर कार लेकर खड़ा है तो उनके पिता ने आक्सफोर्ड के हर गेट पर एक ड्राइवर और एक कार की व्यवस्था कर दी ताकि उनके लाड़ले को परेशानी ना हो।

ये भी पढ़ाया जाना चाहिए कि आजादी की लड़ाई में नेहरू अंग्रेजों का एक दलाल था इसे कभी 2 साल से ज्यादा जेल में कैद नहीं किया गया इसने कभी डंडा नहीं खाया बल्कि दूसरे सेनानियों को अंग्रेजों ने फांसी दे दी, उन्हें 2-2 जन्म काले पानी की सजा दी गई फिर नेहरू पर अंग्रेजों की इतनी मेहरबानी क्यों थी?

यह भी पढ़ाया जाना चाहिए कि जब उसने अपने सबसे विश्वासपात्र वी के कृष्ण मेनन को भारत का रक्षा मंत्री बनाया तब उसने जीप खरीदने में उस जमाने में 65 करोड़ का घोटाला किया लेकिन नेहरू ने उसे कोई सजा नहीं दी बाद में उसी पैसे से वी के कृष्ण मेनन ने TTK नामक एक कंपनी खड़ी की जो आज भी है इसका पूरा नाम टी टी कृष्णामचारी जो प्रेस्टीज कुकर आदि बनाती है।

ये भी पढ़ाया जाना चाहिए जब मशहूर फोटोग्राफर होमी बराईवाला एक बार नेहरु और एडविना का फोटो ले रही थी नेहरू ने जैसे ही कैमरा देखा एडवीना को अपनी अपनी बाहों में भर लिया और बोला होमी फोटो बहुत अच्छे से लेना आज मेरी दुनिया मेरी बाहों में है ।यह बात खुद होमी बराई वाला ने अपनी आत्मकथा में लिखी है।

यह भी पढ़ाया जाना चाहिए की अल्फ्रेड पार्क में चन्द्रशेखर आज़ाद जी मौजूद हैं इसकी शिकायत अंग्रेजो से किसने की जिसके चलते उनकी जान चली गई और हम लोगों नें भारत मां का एक लाल खो दिया .!!!

Source By: Mr. DK Gupta (WhatsApp User)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *