Wednesday, October 16, 2019
Home > Poetries & Songs > Nav Chaitanya Hiloren Leta Jaag Uthi Hai Tarunai

Nav Chaitanya Hiloren Leta Jaag Uthi Hai Tarunai

Nav Chaitanya Hilore Leta Jaag Uthi Hai Tarunai


 
नवचैतन्य हिलोरें लेता जाग उठी है तरुणाई
हिंदुराष्ट्र निज दिव्य रूप ले उठा पुनः ले अंगडाई
जाग उठी है तरुणाई ।

मुठ्ठीभर आक्रांताओ ने अनगिन अत्याचार किये
आत्मशून्य दिगभ्रमित हमीने उन्हे कई उपहार दिये
विदेशियों की चाल न समझे लडे मरे भाई भाई ।।

जाती भाषा वर्ग भिन्नता है कितने मिथ्या अभिमान
क्षेत्र-क्षेत्र के स्वार्थ उभारे ले अपनी-अपनी पहचान
राष्ट्रभाव का करे जागरण पाट चलेंगे सब खाई ।।

विविध पंथ मत दर्शन अपने भेद नही वैशिष्ट्य हमारा
एक अभेद्य अखण्ड संस्कृती की बहती अमृत धारा
सत्य सनातन धर्म अधिष्टित शुभमंगल बेला आई ।।

ध्येय समर्पित जीवन अपना भीष्म प्रतिज्ञा दोहराए
एक-एक को हृदय लगाकर विराट शक्ती प्रकटाए
माँ भारत की जगत्-प्रतिष्ठा यज्ञ पताका लहराई ।।

 
Coming Soon…

Avatar
sharetoall
Share to all is a platform to share your knowledge and experience.
http://www.sharetoall.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *