Monday, August 19, 2019
Home > RSS > RSS Geet > स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना

स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना

Swayam Ab Jaagkar Humko Jagana Desh He Apna

स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना
जगाना देश है अपना, जगाना देश है अपना ॥ध्रु.॥

हमारे देश की मिट्टी, हमें प्राणों से प्यारी है,
यहीं के अन्न जल वायु, परम श्रद्धा हमारी है,
स्वभाषा है हमें प्यारी, ओ प्यारा देश है अपना ॥1॥

जगाना देश है अपना, जगाना देश है अपना,
स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना ।।

नहीं है अब समय कोई, गहन निद्रा में सोने का,
समय है एक होने का, न मतभेदों में खोने का,
बढ़े बल राष्ट्र का जिससे, वो करना मेल है अपना ॥2॥

जगाना देश है अपना, जगाना देश है अपना,
स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना ।।

जतन हो संगठित हिन्दु, ओ सक्रिय भाव भरने का,
जगाने राष्ट्र की भक्ति, उत्तम कार्य करने का,
समुन्नत राष्ट्र हो भारत, यही उद्देश्य है अपना ॥3॥

जगाना देश है अपना, जगाना देश है अपना,
स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना,
स्वयं अब जागकर हमको, जगाना देश है अपना ।।

Avatar
sharetoall
Share to all is a platform to share your knowledge and experience.
http://www.sharetoall.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *