Monday, August 19, 2019
Home > Hindu
Charaiveti - Charaiveti

चरैवेति-चरैवेति, यही तो मंत्र है अपना

चरैवेति-चरैवेति, यही तो मंत्र है अपना, चरैवेति-चरैवेति, यही तो मंत्र है अपना, नहीं रुकना, नहीं थकना, सतत चलना - सतत चलना, यही तो मंत्र है अपना, शुभंकर मंत्र है अपना ॥ध्रु॥ हमारी प्रेरणा भास्कर है, जिनका रथ सतत चलता । युगों से कार्यरत है जो, सनातन है प्रबल ऊर्जा । गति मेरा धरम है जो, भ्रमण

Read More
You Cannot Divorce

तुम तलाक नहीं ले सकते

रविवार को फुरसत से..... तब मैं जनसत्ता में नौकरी करता था। एक दिन खबर आई कि एक आदमी ने झगड़े के बाद अपनी पत्नी की हत्या कर दी। मैंने खब़र में हेडिंग लगाई कि पति ने अपनी बीवी को मार डाला। खबर छप गई। किसी को आपत्ति नहीं थी। पर शाम को दफ्तर

Read More
Shri Dinesh Chandra VHP

Shri Dinesh Chandra Ji (Organizing Secretary General – VHP)

दिनाँक 10-06-2016, सायं 5:30 बजे सेवाधाम, मंडोली, दिल्ली में स्थित विद्या मंदिर में 21-06-2017 से चल रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) के समापन समारोह में जाने अवसर मिला। शिक्षा वर्ग में शिक्षा ले रहे सभी स्वमसेवकों के परिवार एवं इष्ठ-मित्र तथा समाज के सभी लोगों को निमंत्रण

Read More
Akhand Bharat

Unbroken India Our Faith By Sh. Ashok Ji

अखंड भारत हमारी आस्था श्री अशोक जी (विभाग कार्यवाह, दक्षिणी विभाग) दिनाक : 31/12/2016 हर राष्ट्रभक्त का सपना है अखंड भारत। हमने भूगोल को बिगड़ते हुए देखा है। पुन: हम खंडित हुए राष्ट्र को फिर से भारत वर्ष में कैसे विलीन करेंगे, यही विचार करना है और इसी और अग्रेसर होना है,

Read More
Yugon-Yugon Se Behti Aayi...

युगों-युगों से बहती आई हिन्दु संस्कृति धारा…

युगों-युगों से बहती आई हिन्दु संस्कृति धारा, इससे ही एकात्म हुआ है सारा राष्ट्र हमारा !! वेदों की पावन धरती यह, देवों ने अवतार लिये, राम, कृष्ण, गौतम, नानक ने अमृत्सम सुविचार दिए, एक सूत्र में पिरो सभी को ... 2, दिया स्नेह सहारा ! इससे ही एकात्म ..... वनवासी, गिरिवासी वंचित, बन्धु सहोदर हैं अपने, सबको

Read More
Ayodhya karti hai ahvan thaat se kar mandir nirman

Ayodhya Karti Hai Ahvan Thaat Se Kar Mandir Nirman

  अयोध्या करती है आह्वान ठाट से कर मन्दिर निर्माण … 1 अयोध्या करती है आह्वान ठाट से कर मन्दिर निर्माण … 2 शीला की जगह लगा दे प्राण … शीला की जगह लगा दे प्राण … बिठा दे वहाँ राम भगवान … अयोध्या करती है आह्वान ठाट से कर मन्दिर निर्माण … सजग हो रघुवर

Read More